आपकी जन्म तिथि बताएगी कैसा रहेगा आपका साल

fresh (1)

2022 कैसा रहेगा। अगले साल में आपके जीवन में क्या कुछ हो सकता है। आर्थिक, करियर, कारोबार, स्वास्थ्य एवं परिवार के मामले में आपको किन-किन स्थितियों से गुजरना पड़ सकता है। इस विषय की संपूर्ण जानकारी आप पा सकते हैं वार्षिक अंकज्योतिष भविष्यफल में। अगर आपको अपनी राशि के बारे में पता नहीं है तो इसके लिए भी आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है। अंकज्योतिष भविष्यफल में आप अपनी जन्मतिथि से पूरे साल का भविष्यफल जानें न्यूमरोलॉजिस्ट और ऐस्ट्रॉलजर पिनाकी मिश्रा से…

अंक 1 : करियर और व्यवसाय के लिए अच्छा साल

1,10,19 और 28 तारीख को जन्मे लोग अंक 1 के जातक माने जाते हैं। अंक 1 सूर्य ग्रह का प्रतिनिधित्व करता है जो कि आत्मा का कारक ग्रह है, और आत्मा आत्मबल अथवा आत्मशक्ति से सीधा संबंध रखता है। वर्ष 2022 के अंकों का योग 6 है, जो कि शुक्र ग्रह का प्रतिनिधित्व करता है और शुक्र ग्रह भोग का कारक ग्रह भी माना जाता है।

सूर्य और शुक्र के इस ग्रह योग के कारण नए साल की शुरुआत शांति, संतोष और विश्वास के साथ होगी। नववर्ष में नवीन कल्पनाशीलता अपने चरम पर होगी, जिसके कारण आपके अंदर नए साल में कुछ नया कर गुजरने की भावना प्रबल होगी। यद्यपि, जुलाई से सितंबर तक के समय में जिम्मेदारियों का अहसास आपको आपकी महत्वाकांक्षी योजनाओं से दूर करेगा, पर अक्टूबर के बाद आप पुनः अपने आत्मशक्ति पर विजय पाने में सफल साबित हो जाएंगे और अपने कार्य में एकाग्रचित्त होकर लग जाएंगे।

अंक 1 के वैसे जातक जिनकी उम्र 19 से 28 वर्ष की है, उनके लिए यह वर्ष करियर के दृष्टिकोण से काफी निर्णायक साबित होने वाला है। इस उम्र के जातक करियर की मुख्य धारा से पूर्णतः जुड़ जाएंगे, जो इनके जीवन का आधार बनेगा। व्यापार व्यवसाय के दृष्टिकोण से यह वर्ष अंक 1 के जातकों के लिए सामान्य संघर्ष के बाद निश्चित तौर पर सफलता प्रदान करेगा। डॉक्टर्स, इंजीनियर्स एवं कॉन्ट्रैक्टर्स के लिए अंतिम 6 महीने क्रमबद्ध सफलता प्रदान करने वाले साबित होंगे।

दांपत्‍य जीवन में अहंकार की भावना पति-पत्नी के झगड़े का कारण पूरे वर्ष बनती रहेगी। दांपत्‍य जीवन में भोग विलास और सामाजिक प्रतिष्ठा भी प्राप्त होती रहेगी, जिसके कारण पति-पत्नी के बीच आई टकराहट क्षणिक होगी। फरवरी महीने में लव अफेयर की शुरुआत होने की भी भरपूर संभावना है, जिसकी परिणति विवाह में ही होती दिख रही है। ध्यान रहे, मई अथवा जून महीने में एक्स गर्लफ्रेंड / बॉयफ्रेंड का जीवन में पुनः पदार्पण हो सकता है।

स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से अंक 1 के जातकों के लिए 6 महीने विशेष ध्यान देने योग्य साबित होंगे। इस अवधि में एक ओर जहां घुटना, पीठ एवं गर्दन की समस्या जातक को परेशान कर सकती है, वहीं दूसरी ओर किडनी से जुड़ी समस्या भी इस अवधि में बढ़ सकती है।

उपाय-आदित्य हृदय स्‍त्रोत का नियमित पाठ पूरे वर्ष आपके होने वाले सभी अरिष्टों का नाश करता रहेगा।

अंक 2 : इस वर्ष सुख सुविधा के भौतिक साधन बढ़ेंगे 

2 ,11, 20 और 29 तारीख को जन्मे लोग अंक 2 के जातक माने जाते हैं। यह अंक चंद्रमा ग्रह का प्रतिनिधित्व करता है, जिसके कारण आप सौम्य एवं भावुक प्रवृत्ति के होते हैं। बाहर से सख्त दिखना और नर्म रहना आपके व्यक्तित्व का महत्वपूर्ण भाग है। कल्पनाशीलता आपके जीवन का मजबूत और सबसे कमजोर पक्ष भी है।

नए वर्ष का अंक 6 और कारक ग्रह शुक्र है। शुक्र और चंद्रमा का यह योग इस वर्ष आपके अंदर संवेदनशीलता, कल्पनाशीलता एवं सृजनात्मक शक्ति का भरपूर विकास करेगा। नए विचारों का उदय और विचारों पर क्रियाशीलता इस वर्ष की महत्वपूर्ण देन होगी। पिछले वर्ष की तुलना में नया वर्ष भौतिक संसाधनों के दृष्टिकोण से काफी बेहतर माना जाएगा।

फिल्म उद्योग से जुड़े लोग इस वर्ष अप्रत्याशित सफलता हासिल करेंगे। केमिकल, परफ्यूम अथवा पानी से जुड़े व्यापार-व्यवसाय में भी बढ़चढ़कर सफलता हासिल होगी। सिनेमा हॉल एवं शॉपिंग मॉल के संचालक इस वर्ष राहत की सांस लेंगे। नौकरीपेशे से जुड़े लोग अप्रैल, मई, नवंबर अथवा दिसंबर में स्थान परिवर्तन के साथ पद लाभ ले सकते हैं।

प्रेम संबंधों की नींव पड़ेगी और पूरा वर्ष प्रेमी युगल रुमानियत के साथ व्यतीत करेंगे। पर, अत्यधिक कल्पनाशीलता से उपजी अपेक्षा प्रेमी युगलों के बीच वर्ष के मध्य में लड़ाई-झगड़े भी करा सकती है। दांपत्‍य जीवन सुखमय रहेगा, पर घर में महिलाओं के बीच युद्ध की भी पूर्ण आशंका है। सितंबर से लेकर नवंबर के बीच घर में नई गाड़ी आने के योग प्रबल होते दिख रहे हैं।

स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से कफ जनित समस्याओं से पूरे वर्ष सतर्कता बरतें। संभव है, 20 अप्रैल से 15 जून के मध्य वायरल इंफेक्शन की चपेट पड़ जाए , अतः इस अवधि में जितना अधिक संभव हो बाहर की यात्रा एवं बाहरी खानपान से बचें। अक्टूबर से दिसंबर के बीच अस्थमा रोगियों की समस्या बढ़ सकती है, सावधानी बरतें।

उपाय-भगवान शिव की आराधना एवं रूद्राभिषेक पूरे वर्ष करें।

अंक 3 : सामाजिक रुतबा बढ़ेगा 

3, 12, 21 या 30 तारीख को जन्मे जातक अंक 3 के जातक माने जाते हैं, जिसका प्रतिनिधित्व बृहस्पति ग्रह करता है। गुरु ग्रह के प्रभाव के कारण आपकी मूल प्रकृति शांत और सौम्य है। धार्मिक एवं आध्यात्मिक कर्मों के प्रति आपका झुकाव दिन प्रतिदिन बढ़ता चला जाएगा। साहित्य के प्रति आपका लगाव विशेष होता है और अपनी बात को साहित्यिक अंदाज में रखने की कला से समाज में आपको विशेष पहचान भी मिलेगी।

नए साल में अंक 3 और अंक 6 का यह योग-संयोग गुरु-शुक्र योग को दर्शाता है। गुरु-शुक्र योग का यह प्रभाव नए वर्ष में ज्ञान और भौतिक संपदा प्रचुर मात्रा में देगा। जमीन लेने के अथवा घर बनाने के योग प्रबल होंगे, इसकी अवधि भी मुख्य रूप से फरवरी से जून के मध्य की होगी। पुराने फंसे हुए पैसे मिलेंगे एवं पुराने मुकदमे इस वर्ष आपके प्रयास से निष्पादित हो सकते हैं।

पति-पत्नी के बीच आपसी तालमेल पूरे वर्ष बने रहेंगे और इनका यह तालमेल बड़ी से बड़ी परेशानियों को भी खत्म कर देगा। लव लाइफ साल के शुरुआती चार महीनों में तो अच्छी चलेगी, पर मई से लेकर अक्टूबर तक के समय में शक का उदय प्रेम संबंधों में दरार डाल सकता है। शादी के इच्छुक लड़के-लड़कियां अप्रैल के बाद खुशखबरी पा सकते हैं। संतान पक्ष से संबंधित सफलता मन में उल्लास का कारण बनेगी।

आर्थिक लेनदेन में इस वर्ष दिल की नहीं दिमाग की सुनें। संभव है उधार में दिए गए पैसे वापस आने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़े। स्कूल, कॉलेज और इंस्‍टीट्यूट से जुड़े लोगों के लिए यह वर्ष असीम सफलता देने वाला वर्ष साबित होगा। व्यापार व्यवसाय के दृष्टिकोण से कपड़ा एवं अनाज के व्यापारी इस वर्ष बेहतर व्यापार करेंगे। नौकरी कर रहे लोगों को प्रारंभिक तीन महीने गुप्त शत्रुओं से विशेष बचाव करना होगा।

शरीर में लिवर के आस-पास के क्षेत्रों में कुछ परेशानियों के संकेत दिख रहे हैं, विशेषकर पैंक्रियाज ग्लैंड का क्षेत्र। जनवरी, फरवरी , अगस्त और नवंबर के महीनों में स्वास्थ्य संबंधी एहतियात विशेष अपेक्षित है। इन महीनों में शुगर और हाई ब्लड प्रेशर के कुछ ज्यादा ही बढ़ने की संभावना है।

उपाय : विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ हर गुरुवार को किया करें।

अंक 4 : डूबा हुआ धन वापिस मिलने का योग 

4,13 एवं 22 तारीख को जन्मे लोग अंक 4 के जातक माने जाते हैं और राहु को अंक 4 का कारक ग्रह माना गया है। कारक ग्रह राहु होने के कारण आप आत्मकेंद्रित व्यक्ति होने के साथ ही साथ अपने काम को येन-केन प्रकारेण निकालने में निपुण होते हैं। उम्र के विकास के साथ-साथ आपकी तार्किक क्षमता दिन प्रतिदिन बढ़ती चली जाती है, और लोग आपके तर्कों का लोहा मानने लगते हैं।

नए साल में अंक 4 का योग- संयोग वार्षिक अंक 6 के साथ बनता दिख रहा है। यह योग-संयोग राहु और शुक्र ग्रह को प्रदर्शित करता है। राहु और शुक्र दोनों पाप ग्रह होने के कारण कलियुग में भौतिक सुख-समृद्धि की दृष्टि से अप्रत्याशित फल दिया करते हैं। तमाम भौतिक सुख-सुविधाएं इस वर्ष आपके सामान्य परिश्रम से ही पूरी होती चली जाएंगी। कठिन से कठिन परिस्थितयों में भी इस वर्ष आपकी बुद्धि और विवेक से सारी समस्याएं छू मंतर हो जाएंगी।

आर्थिक दृष्टिकोण से इस वर्ष आपके कोई भी कार्य रुकने वाले नहीं हैं। नए पुराने सभी भुगतान समय पर प्राप्त होंगे जिससे आप पूरे वर्ष उत्साहित रहेंगे। ट्रेडिंग, आईटी एवं माइनिंग के कामों में इस वर्ष अप्रत्याशित सफलता प्राप्त होगी। नौकरी करने वाले लोग पद लाभ लेने में सफल साबित होंगे। यद्यपि इसके लिए उन्हें गुप्त शत्रुओं का भरपूर सामना करना पड़ सकता है। जो लोग सरकारी नौकरी के लिए प्रयासरत थे उन्हें इस वर्ष के अंत तक सफलता प्राप्त हो सकती है, प्रयास और तेज कर दें।

घर परिवार का माहौल सुखमय होगा, संभावना है घर में कोई विशिष्ट मांगलिक कार्य भी सम्पन्न हो। जो लोग पुराने प्रेम प्रसंग में थे उनके विवाह बंधन में बंध जाने की संभावना इस वर्ष प्रबल है। भूमि-भवन एवं वाहन के योग भी इस वर्ष प्रबल हैं, किसी पुराने जमीन से संबंधित मुकदमे में भी विजयश्री प्राप्त हो सकती है। विवाह के लिए प्रयासरत अभिभावक साल के अंत तक शुभ समाचार प्राप्त करेंगे।

राहु ग्रह के दुष्प्रभाव के कारण इन्फेक्शन जनित समस्या सतर्कता पूरे वर्ष विशेष अपेक्षित होगी। मई के महीने में पेट की समस्या और नवंबर के महीने में एलर्जी की समस्या विशेष रूप से उठ सकती है।

उपाय – प्रत्येक शनिवार काली मंदिर में नारियल चढ़ाएं और घी का एक दीपक भी जलाएं।

अंक 5 : अटके हुए काम पूरे होंगे

5 ,14 एवं 23 तारीख को जन्मे लोग अंक 5 के जातक माने जाते हैं। बुध ग्रह अंक 5 का प्रतिनिधित्व करता है और वार्षिक अंक 6 यानी कि शुक्र ग्रह के साथ पारस्परिक मित्रता का योग बना रहा है। आपके अंक के साथ वार्षिक अंक का तालमेल पूरे वर्ष आपके भाग्य के लिए अच्छा माना जाएगा। वर्षों पुराने लंबित कार्यों के इस वर्ष पूरे होने के आसार हैं।

कर्म एवं भाग्य के अद्भुत समन्वय के कारण यह वर्ष आपके लिए सफलताओं से भरा साबित हो सकता है। बुध ग्रह के मौलिक गुण यानी कि वाणी एवं बुद्धि की तीक्ष्णता आपके विरोधियों को भी इस वर्ष आपके मित्र बनने पर विवश कर देगी। विचारों का प्रवाह तीव्र गति से होगा जिसके कारण मन में उलझन की स्थिति उत्पन्न हो सकती है और आपकी निर्णय क्षमता को भी प्रभावित कर सकती है।

वाणिज्य-व्यापार से जुड़े लोग इस वर्ष अपने कार्यों में बेहतरीन प्रदर्शन कर आर्थिक और मानसिक संतुष्टि प्राप्त करेंगे। इन्फॉर्मेशन टेक्नॉलजी, वकालत एवं प्रिंटिंग प्रेस से जुड़े लोगों के लिए यह वर्ष महत्वपूर्ण माना जाएगा। वैसे छात्र जो न्यायायिक परीक्षाओं की तैयारी में जुटे हैं, उन्हें इस वर्ष सफलता प्राप्त होती हुई प्रतीत हो रही है। यद्यपि नौकरी कर रहे लोग अपने बॉस के कोपभाजन का शिकार हो सकते हैं, पर प्रत्यक्ष रूप से इन्हें इस कारण किसी भी प्रकार की हानि भी नहीं होगी।

दांपत्‍य जीवन का खुलकर आनंद उठाने का सौभाग्य इस वर्ष प्राप्त होगा, विशेषकर महिला वर्ग अपने पति के प्यार से खुद को सौभाग्यशाली समझेंगी और पूरे समर्पण के साथ ससुराल पक्ष को खुश रखने की कोशिश भी करेंगी। पुराने प्रेम की परिणीति इस वर्ष विवाह के साथ होगी। साथ ही पारिवारिक सहयोग भी खुलकर प्राप्त होगा। मई-जून अथवा अक्टूबर-नवंबर के महीने में फ़्लैट अथवा जमीन खरीदने के इच्छुक लोगों की मनोकामना पूर्ण हो सकती है।

स्किन से संबंधित समस्या से पूरे वर्ष विशेष सतर्कता बरतना अपेक्षित है। गले की समस्या मार्च के मध्य में उत्पन्न हो सकती है, ठंडी वस्तुओं के सेवन से बचें।

उपाय – गायत्री मंत्र का मानसिक जप पूरे वर्ष यथासंभव करें।

अंक 6 : भौतिक सुविधाओं में वृद्धि होगी

6, 15 एवं 24 तारीख को जन्मे लोग अंक 6 के जातक माने जाते हैं, और इस वर्ष का वार्षिक अंक भी 6 है। वार्षिक अंक के साथ आपके अंक का तालमेल इस वर्ष आपके उज्ज्वल भविष्य की तरफ इंगित कर रहा है। अंक 6 वस्तुतः अंकज्योतिष में शुक्र ग्रह का प्रतिनिधित्व करता है, जिसे भोगकारक ग्रह की संज्ञा दी गई है। इस दृष्टिकोण से नया वर्ष आपके लिए भौतिक उपलब्धियों एवं भौतिक संसाधनों की उपलब्धता कराने वाला साबित होगा।

विदेश घूमने अथवा विदेश में नौकरी करने जाने के लिए इच्छुक लोगों की मनोकामना इस वर्ष पूरी होती प्रतीत हो रही है। पिछले वर्ष आई आत्मबल की गिरावट इस वर्ष उस कमी को पूरा कर देगी और आप बिलकुल आत्मशक्ति से युक्‍त होकर अपने सभी महत्वाकांछी कार्यों को अंजाम देते चले जाएंगे। सामाजिक मान-प्रतिष्ठा में अभूतपूर्व वृद्धि होती दिख रही है।

फरवरी माह में नए प्रेम प्रसंग की शुरुआत होगी जो कि साल के अंत तक पारिवारिक सहमति के बाद विवाह में परिणति होती प्रतीत हो रही है। पति-पत्नी एक दूसरे के प्रति पूर्णतः समर्पित होते हुए सुखमय वैवाहिक जीवन का निर्वहन करने में पूरे वर्ष सफल रहेंगे। भूमि-भवन एवं वाहन प्राप्ति के साल के अंतिम छह महीनों में प्रबल योग हैं, अतः प्रयास तेज़ कर दें।

कला-साहित्य एवं संस्कृति से जुड़े लोग इस वर्ष अपने कार्यों में विशिष्ट सफलता हासिल करेंगे। सिनेमा, रेस्टोरेंट एवं केमिकल के व्यापारी इस वर्ष जबरदस्त मुनाफ़ा प्राप्त कर समाज एवं परिवार के बीच सम्मान भी पाएंगे। प्राइवेट नौकरी करने वाले लोग एक ओर जहां प्रमोशन हासिल करेंगे, वहीं दूसरी ओर सरकारी नौकरी करने वाले लोग स्थानांतरण के साथ पद लाभ हासिल करेंगे। शेयर बाज़ार से जुड़े लोग लंबे समय के लिए किए गए सौदों में लाभ हासिल करेंगे।

उच्च रक्तचाप और मधुमेह पर नियंत्रण एवं इन रोगों से संबंधित दिनचर्या पर पूरे वर्ष सतर्कता बरतें। यूरिक एसिड की समस्या जून से अगस्त तक की अवधि में परेशान कर सकती है, ध्यान बरतें। इसी अवधि में आंशिक रूप से डिप्रेशन की समस्या भी उभर सकती है, अत्यधिक विचारों से बचें।

उपाय-महामृत्युंजय के लघु मंत्र का मानसिक जप पूरे वर्ष करें।

अंक 7 : सरकारी नौकरी मिलने का और प्रमोशन का योग 

7,16 और 25 तारीख को जन्मे लोग अंक 7 के जातक माने जाते हैं और इस अंक का कारक ग्रह केतु को माना गया है। वार्षिक अंक के कारक ग्रह शुक्र के साथ आपके अंक का सामंजस्य इस वर्ष आपके रहस्यमयी व्यक्तित्व को दर्शाता है। ऐसा प्रतीत होता है कि इस वर्ष आप ऐसे कार्यों को सफलतापूर्वक गुप्त रूप से अंजाम देते चले जाएंगे, जो सबको अचरच में डाल दे।

इस वर्ष आपकी महत्वाकांक्षा अपने चरम पर होगी, अपनी महत्वाकांक्षी योजनाओं को मूर्त रूप देने के लिए आप इस वर्ष किसी भी हद तक जा सकते हैं। यद्यपि आपके गुप्त शत्रु हर स्तर पर आपको क्षति पहुंचाने की भरपूर कोशिश करेंगे, पर हर बार आपके कारण उन्हीं लोगों को अंततः हानि उठानी पड़ेगी। संभव है, ससुराल पक्ष से अनायास कोई बड़े आर्थिक सहयोग की इस वर्ष प्राप्ति हो।

दांपत्‍य जीवन में अनावश्यक तर्कों एवं कुतर्कों के कारण आपस में कलह की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। जितना संभव हो हो तर्क-वितर्क से दूर रहें। पुराने प्रेमी अथवा प्रेमिका के जीवन में फिर से आने की संभावना बनती दिख रही है, जो कि आपके वर्तमान के संबंधों में खटास का कारण बन सकती है। बहुत दिनों से टलती आ रही यात्रा इस वर्ष बनेगी। पूरे परिवार के संग एक अच्छा समय भी व्यतीत होगा।

मनोरंजन उद्योग से जुड़े लोग इस वर्ष अप्रत्याशित अवसर और आर्थिक लाभ हासिल करेंगे। शराब, माइनिंग, कोयला एवं रियल एस्टेट के कामों में सफलताएं आसानी से मिलती चली जाएंगी। आईटी एवं एमबीए किए हुए छात्र साल के मध्य तक अपनी पसंदीदा जॉब को पाने में सफल होते दिख रहे हैं। सरकारी नौकरी कर रहे लोग साल के अंत अंत तक में प्रमोशन पाने में सफल हो जाएंगे।

स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से मार्च , जुलाई एवं सितंबर का महीना विशेष रूप से ध्यान देने योग्य है। इस अवधि में पुरानी बीमारियों के उभरने की भरपूर संभावना है, अतः अपनी दिनचर्या एवं पूर्व में किए जा रहे परहेजों पर विशेष ध्यान रखें। थायरॉइड एवं पैंक्रियाज ग्लैंड की समस्या साल के अंतिम छह महीने में बढ़ सकती है।

उपाय-रात के खाने का पहला हिस्सा किसी जानवर के लिए निकाल दें।

अंक 8 : व्यापार के लिए बेहतरीन समय 

अंकज्योतिष में 8 अंक का प्रतिनिधित्व शनि ग्रह करता है और वर्ष का अंक भी 8 अंक से संबंध रखता है, इस विचार से इस अंक के जातकों के लिए यह वर्ष विशिष्ट और महत्वपूर्ण साबित होने जा रहा है। 8 , 17 और 26 तारीख के जन्मे लोगों को यह वर्ष अंकों एवं ग्रहों का सुन्दर तालमेल प्राप्त हो रहा है जिससे यह वर्ष जातक को सफलता, समृद्धि दिलाकर भाग्योदयकारक साबित होगा।

नए वर्ष में अंकों और ग्रहों का यह संयोग आध्यात्मिक दृष्टिकोण से उपलब्धियों वाला साबित होगा। पर, व्यावहारिक जीवन में आर्थिक मसलों पर पूरे वर्ष विशेष सतर्कता अपेक्षित है। अपनी भावनाओं पर यदि काबू रखें तो नया वर्ष सुख एवं शांति प्रदान करने वाला साबित होगा। वैसे व्यक्ति जो विदेश घूमने के लिए पिछले कई वर्षों से प्लान बना रहे थे उनकी मनोकामना इस वर्ष पूरी होती दिख रही है।

वैसे विद्यार्थी जो जज, अध्यापक और प्रफेसर बनने के लिए संघर्ष कर रहे हैं, उनके लिए यह वर्ष सपनों को मूर्त रूप देने वाला साबित होगा। व्यापार-व्यवसाय के दृष्टिकोण से कोयला, लोहा एवं बिल्डिंग मैटेरियल के काम में जुड़े लोग इस वर्ष बढ़िया मुनाफ़ा कमाते हुए अपने व्यापार का भी विस्तार करेंगे। सरकारी नौकरी कर रहे लोगों को अपने सहकर्मियों के कारण परेशानी का सामना करना पड़ सकता है, जरूरत से ज्यादा भरोसा न करें।

प्रेम संबंध आपसी ग़लतफ़हमी के शिकार हो सकते हैं। आपसी विश्वास और भरोसा संबंधों को अपने अंजाम तक लेकर जाएगा इसलिए पूरे वर्ष प्रेमी युगल को इस बात का ध्यान रखना चाहिए। मई-जून तथा नवंबर-दिसंबर के महीने उन अभिभावकों के लिए उपयुक्त हैं जो अपने संतानों के विवाह के लिए पिछले वर्ष परेशान थे।

स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से पूरे वर्ष ब्लड प्रेशर तथा वायुजनित समस्याओं से विशेष सतर्कता बरतें। जून से लेकर अगस्त तक की अवधि में चोट-चपेट की आशंका है। वाहन चलाने में सावधानी बरतें। संभव हो तो इस अवधि में पश्चिम दिशा की यात्रा से बचें।

उपाय – प्रत्येक शनिवार को काली मंदिर में नारियल चढ़ाएं एवं घी का दीपक भी जलाएं।

अंक 9 : नकरात्मक सोच से बचें

9, 18 और 27 तारीख के जन्मे लोगों के लिए नया वर्ष मिश्रित फलदायक साबित होगा। इन अंक के जातकों के स्वामी ग्रह मंगल होते हैं और वर्ष के अंक के साथ योग-संयोग का यह योग संयोग व्यक्ति के मानसिक विकेंद्रीकरण का कारण बनता है। भविष्य की चिंताओं और कल्पनाओं से विशेष किनारा रखें, अन्यथा मानसिक अवसाद के शिकार हो सकते हैं।

नए वर्ष में इस अंक के जातकों को भौतिक सुख-सुविधा तो प्राप्त होगी पर भावनात्मक चोट लगने की भी पूर्ण संभावना है। इसलिए इस अंक के जातकों के लिए यह वर्ष दिल से नहीं बल्कि दिमाग से जीना जरूरी है। जो लोग पिछले वर्ष विदेश जाने के लिए प्रयत्नशील थे, पर जा नहीं पाए, वैसे लोगों की मन की इच्छा इस वर्ष पूरी होती नजर आएगी।

प्रतियोगी परीक्षार्थियों को आरंभिक कष्ट के बाद वर्ष के अंत तक सुखद समाचार प्राप्त होने के आसार हैं। नौकरी करने वाले लोग कार्यालय में राजनीति के शिकार हो सकते हैं। व्यापारियों के लिए व्यापारिक दृष्टिकोण से प्रथम छह महीने मुनाफाकारक, पर मानसिक विचलन से बचाव अपेक्षित। कोयला एवं खनिज के कारोबारियों को विशेष रूप से बड़े अवसर प्राप्त हो सकते हैं।

प्रेम संबंधों में दरार पड़ने की आशंका है। घर-गृहस्थी में रमे लोगों के घरों में अनावश्यक कलह घर का माहौल ख़राब कर सकती है। विवाह के लिए प्रयत्नशील जातकों के लिए मई और जून का समय विशेष रूप से अनुकूल साबित होगा। जुलाई और अगस्त के महीने में अनावश्यक समस्या और परेशानियां इस अंक के जातकों के लिए मानसिक अवसाद का कारण बन सकती हैं। इसलिए जरूरी है कि इन दो महीनों में भविष्य की बातों से किनारा रखते हुए वर्तमान में अपने आप को केंद्रित किया जाए।

स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से मांशपेशी जनित समस्याओं पर विशेष सतर्कता बरतें। स्पॉन्डलाइटिस से परेशान जातक पूरे वर्ष इस समस्या से बचें। वर्ष के अंत तक वरिष्ठों को जिनकी आयु 50 के ऊपर की हो चुकी है, ऑस्टियोपोरोसिस की चपेट में पड़ सकते हैं।

उपाय – तंत्रोक्त देवी सूक्तम का पाठ पूरे वर्ष नियमित तौर पर करें।

Subscribe to our Newsletter

To Recieve More Such Information Add The Email Address ( We Will Not Spam You)

Share this post with your friends

Leave a Reply

Related Posts

tirupati balaji mandir

भगवन विष्णु के अवतार तिरुपति बालाजी का मंदिर और उनकी मूर्ति से जुड़े ख़ास रहस्य,तिरुपति बालाजी मंदिर में दर्शन करने के नियम!!

भारत में कई चमत्कारिक और रहस्यमयी मंदिर हैं जिसमें दक्षिण भारत में स्थित भगवान तिरुपति बालाजी का मंदिर भी शामिल है। भगवान तिरुपति बालाजी का

angkor wat temple

भारत में नहीं बल्कि इस देश में है दुनिया का सबसे बड़ा हिन्दू मंदिर, जाने अंगकोर वाट से जुडी सारी जानकारी!!

हिंदू धर्म सिर्फ भारत तक सीमित नहीं है। इसकी पुरातन संस्कृति की झलक पूरी दुनिया में दिखती है। यही कारण है कि इस धर्म के

kamakhya temple

जाने कामख्या देवी मंदिर से जुड़े कुछ ऐसे ख़ास रहस्य जो उड़ा देंगे आपके होश!!

माता कामाख्या देवी मंदिर पूरे भारत में प्रसिद्ध है। यह मंदिर 52 शक्तिपीठों में से एक है। भारतवर्ष के लोग इसे अघोरियों और तांत्रिक का