Saphala Ekadashi 2022: सफला एकादशी पर करें ये ज्योतिषीय उपाय, आर्थिक संकट से मुक्ति मिलने की है मान्यता !!

saphala ekadashi 2022

Saphala Ekadashi 2022: साल 2022 की आखिरी एकादशी 19 दिसंबर (saphala ekadashi) को पड़ रही है। हिंदू पंचांग के अनुसार, पौष मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि को सफला एकादशी कहा जाता है। इस दिन भगवान विष्णु के साथ मां लक्ष्मी की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है और हर दुख से छुटकारा मिल जाता है। पंचांग गणना के अनुसार, इस एकादशी को सभी एकादशियों में से श्रेष्ठ माना जाता है। इस दिन पूजा पाठ करने से सभी प्रकार के कष्टों से छुटकारा मिल जाता है।

Saphala Ekadashi 2022: सफला एकादशी शुभ मुहूर्त:

हिंदू पंचांग के अनुसार पौष माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी (saphala ekadashi) तिथि 19 दिसंबर 2022 को सुबह 03 बजकर 32 मिनट पर शुरू होगी और एकादशी तिथि का समापन 20 दिसंबर 2022 को सुबह 02 बजकर 32 मिनट पर होगा. सफला एकादशी व्रत का पारण 20 दिसंबर 2022 को सुबह 08 बजकर 05 से सुबह 09 बजकर 16 मिनट तक किया जाएगा.

सफला एकादशी का महत्व (Significance Of Saphala Ekadashi)

शास्त्रों में सफला एकादशी का विशेष महत्व है। पद्म पुराण के अनुसार, युधिष्ठिर के पूछने पर भगवान श्रीकृष्ण ने बताया कि उन्हें बड़े से बड़े यज्ञों, अनुष्ठान से मुझे उतना संतोष नहीं मिलता है जितना एकादशी व्रत से मिल जाता है। सफला एकादशी का व्रत रखने से सौभाग्य की प्राप्ति होती है। इसके साथ ही जो व्यक्ति पूरी श्रद्धा, सच्चे मन से भगवान विष्णु की पूजा और व्रत करता है उसे बैकुंठ धाम की प्राप्ति होती है। इसके साथ ही सुख-समृद्धि और खुशहाली मिलती है।

सफला एकादशी 2022 पूजन विधि  (Saphala Ekadashi Pujan Vidhi)

  • सफला एकादशी का व्रत रखने वाले लोग इस दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करके भगवान विष्णु की पूजा और व्रत करने का संकल्प करें.
  • जो लोग सफला एकादशी का व्रत रखते हैं, उन्हें इस दिन सुबह और शाम के समय भगवान विष्णु के साथ मां लक्ष्मी की पूजा करें.
  • सफला एकादशी व्रत के दौरान सात्विक फलाहार ग्रहण किए जाते हैं. ऐसे में हर व्रती को इस बात का ध्यान रखना चाहिए.
  • धार्मिक मान्यता के अनुसार सफला एकादशी के व्रत में नमक का सेवन नहीं किया जाता है, क्योंकि ऐसा करने से व्रत भंग हो जाता है.
  • सफला एकादशी के दिन भगवान विष्णु को दीपक, नारियल, पान, सुपारी, लौंग आदि का प्रयोग करते हुए भगवान की विधि विधान से पूजा-अर्चना करें.
  • सफला एकादशी की पूजा में एकादशी व्रत की कथा जरूर पढ़ें और अंत में भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की आरती कर उन्हें भोग लगाएं और प्रसाद को सभी लोगों में वितरित करें.

Saphala Ekadashi 2022: सफला एकादशी पर ना करें ये काम

  • सफला एकादशी के दिन बिस्तर पर नहीं, जमीन पर सोना अच्छा माना गया है. ऐसे में प्रत्येक व्रती को इस बात का ध्यान रखना चाहिए.
  • सफला एकादशी के दिन मांस-मदीरा और अन्य नशीली वस्तुओं का सेवन नहीं करना चाहिए. इसके साथ ही इस दिन लहसुन और प्याज का सेवन भी निषेध माना गया है.
  • सफला एकादशी की सुबह ब्रश करना भी वर्जित माना गया है. इस दिन दातून का इस्तेमाल करना अच्छा रहता है.
  • सफला एकादशी व्रत के दिन किसी पेड़ या पौधे की की फूल-पत्ती तोड़ना भी अशुभ माना जाता है.

Saphala Ekadashi 2022: सफला एकादशी कथा

प्राचीन काल में चंपावती नगर में राजा महिष्मत राज करते थे. राजा के 4 पुत्र थे, उनमें लुम्पक बड़ा दुष्ट और पापी था. वह पिता के धन को कुकर्मों में नष्ट करता रहता था. एक दिन दुःखी होकर राजा ने उसे देश निकाला दे दिया, लेकिन फिर भी उसकी लूटपाट की आदत नहीं छूटी. एक समय उसे 3 दिन तक भोजन नहीं मिला. इस दौरान वह भटकता हुआ एक साधु की कुटिया पर पहुंच गया. सौभाग्य से उस दिन सफला एकादशी थी.

महात्मा ने उसका सत्कार किया और उसे भोजन दिया. महात्मा के इस व्यवहार से उसकी बुद्धि परिवर्तित हो गई. वह साधु के चरणों में गिर पड़ा. साधु ने उसे अपना शिष्य बना लिया और धीरे-धीरे लुम्पक का चरित्र निर्मल हो गया. वह महात्मा की आज्ञा से एकादशी का व्रत रखने लगा. जब वह बिल्कुल बदल गया तो महात्मा ने उसके सामने अपना असली रूप प्रकट किया. महात्मा के वेश में स्वयं उसके पिता सामने खड़े थे. इसके बाद लुम्पक ने राज-काज संभालकर आदर्श प्रस्तुत किया और वह आजीवन सफला एकादशी का व्रत रखने लगा.

Subscribe to our Newsletter

To Recieve More Such Information Add The Email Address ( We Will Not Spam You)

Share this post with your friends

Leave a Reply

Related Posts

Varalakshmi Vart 2023

Varalakshmi Vart 2023:- वरलक्ष्मी व्रत 2023 में कब रखा जाएगा ? वरलक्ष्मी व्रत तिथि और पूजा मुहूर्त क्या है ? वरलक्ष्मी व्रत की तैयारी कैसे करे ?

Varalakshmi Vart 2023:- वरलक्ष्मी व्रत 2023 में कब रखा जाएगा ? वरलक्ष्मी व्रत तिथि और पूजा मुहूर्त क्या है ? वरलक्ष्मी व्रत की तैयारी कैसे करे ?

Raksha Bandhan 2023

Raksha Bandhan 2023:- रक्षा बंधन का त्यौहार कब है ? रक्षा बंधन के दिन करें ये 5 अचूक उपाय, दूर होगी गरीबी और खत्म होगा संकट !

Raksha Bandhan 2023:- रक्षा बंधन का त्यौहार कब है ? रक्षा बंधन के दिन करें ये 5 अचूक उपाय, दूर होगी गरीबी और खत्म होगा संकट !