Diwali 2022: दिवाली पर करें ये छोटे से उपाय, मां लक्ष्मी की बरसेगी कृपा; दूर हो जाएगी पैसों की किल्लत !!

Diwali 2022

Diwali 2022: हिंदू पंचांग के अनुसार, दिवाली का पर्व कार्तिक मास की अमावस्या तिथि को मनाया जाता है। दीपों (Diwali 2022) का ये त्योहार अधर्म पर धर्म की विजय के रूप में मनाया जाता है। इस बार दिवाली की तिथि को लेकर थोड़ा सा असमंजस है। क्योंकि इस साल अमावस्या तिथि पर सूर्य ग्रहण भी लग रहा है। शास्त्रों के अनुसार, ग्रहण के दौरान किसी भी तरह के मांगलिक और शुभ कार्यों को करने की मनाही होती है। जानिए इस साल किस दिन मनाया जाएगा दिवाली का पर्व।

Diwali 2022: कब है दिवाली ?

इस वर्ष अमावस्था तिथि 24 और 25 अक्टूबर को है। हालांकि 25 तारीख को अमावस्या तिथि पर प्रदोष काल से पहले ही समाप्त हो जाएगा। 24 अक्टूबर को प्रदोष काल में अमावस्या तिथि रहेगी। इस दिन निश्चित काल में अमावस्या रहेगी। इस कारण 24 अक्टूबर का दिन दीपावली के लिए (Diwali 2022) सर्वमान्य है। ज्योतिषाचार्य के अनुसार छोटी दिवाली भी इसी दिन है। इस दिन को नरक चौदस भी कहा जाता है।

Diwali 2022: दीपावली पर संयोग

23 अक्टूबर के दिन त्रयोदशी तिथि शाम 06.04 मिनट तक रहेगी। उसके बाद चतुर्दशी तिथि आरंभ होगी। 24 अक्टूबर को शाम 05.28 मिनट पर चतुर्दशी तिथि समाप्त होगी। अमावस्या तिथि 25 अक्टूबर को दोपहर 04.19 मिनट तक रहेगी।

Diwali 2022: सूर्य ग्रहण कब से कब तक

साल 2022 का आखिरी सूर्य ग्रहण 25 अक्टूबर के दिन पड़ रहा है। सूर्य ग्रहण 25 अक्टूबर को शाम 4 बजकर 29 मिनट से शुरू होकर 5 बजकर 42 मिनट तक रहेगा। भारत में दिखाई नहीं देने के कारण सूतक काल मान्य नहीं होगा।

Diwali 2022:- दिवाली पर करें ये छोटे से उपाय

Diwali 2022: 1. लाल वस्त्र करें भेंट

दीपावली के दिन किसी युवा सुहागन स्त्री को घर पर आमंत्रित करें और भोजन व मिठाई खिलाएं. इसके बाद लाल वस्त्र भेंट करें. ऐसा करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं. दिवाली के दिन लक्षमी जी को चने की कच्ची दाल चढ़ाएं और इसे बाद में पीपल के पेड़ के नीचे चढ़ा दें.

Diwali 2022: 2. ईशान कोण में भरे पानी का बर्तन

दिवाली के दिन चांदी, तांबा या स्टील के बर्तन में पानी भरकर घर के ईशान कोण में रख दें. हालांकि, पानी का बर्तन रखते समय इस बात का खास ध्यान रखें कि घर की तिजोरी का मुंह उत्तर दिशा में हो और तिजोरी में रखें पैसे, गहनें लाल या पीले कपड़े में बांध के रखें. इससे आर्थिक तंगी से छुटकारा मिलता है.

Diwali 2022: 3. रोटी के करें चार भाग

दिवाली के दिन एक उपाय और कर सकते हैं. इस दिन घर में रोटी बनाकर उसके चार भाग कर लें. पहला भाग गाय, दूसरा भाग काले कुत्ते, तीसरा भाग कौए और चौथा भाग घर के पास किसी चौराहे पर रख दें. वहीं, दिवाली की रात को लक्ष्मी पूजन के साथ काली हल्दी की भी पूजा करें और फिर से घर-ऑफिस की तिजोरी में रख दें. ऐसा करने से धन लाभ होने की संभावना बढ़ जाती है.

दिवाली 2022 का महत्त्व

दीपावली बुराई पर अच्छाई की जीत का पर्व है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार भगवान श्री राम ने लंकापति रावण पर विजय प्राप्त की थी और इसी दिन वे 14 वर्ष का वनवास पूरा कर अयोध्या लौटे थे। दीपावली, प्रकाश का त्योहार, भगवान राम की वापसी का जश्न मनाने के लिए मनाया गया। कहा जाता है कि जब भगवान राम, लक्ष्मण और माता सीता अयोध्या आए तो लोगों ने दीप जलाकर उनका स्वागत किया। दीपावली मिलन का पर्व है इस दिन सभी लोग एक दूसरे के घर जाकर मिठाइयां बांटते हैं।

Diwali 2022:- एक काम करते ही बरसने लगेगा पैसा

Diwali 2022: 1. दिवाली पर घर का मुख्य द्वार को किस तरह तैयार करें

दिवाली की सफाई करने के दौरान घर के मुख्य द्वार को अच्छी तरह से साफ करें. ध्यान रखें कि दरवाजे को खोलने या बंद करने के दौरान कर्कश आवाज न आए. घर से किसी भी बीमारी को दूर रखने के लिए प्रवेश द्वार पर चांदी का स्वस्तिक रखें. इसके साथ ही प्रवेश द्वार पर मां लक्ष्मी के चरण चिन्ह बनाएं. दरवाजे की सजावट के लिए आम के पत्ते, कनेर, पीपल और अशोक के पेड़ बंदरवाल बनाकर उसे सजाएं. ऐसा करने से घर में लक्ष्मी का आगमन होगा.

Diwali 2022: 2. घर के अंदर करें ये बदलाव

दिवाली की सजावट के दौरान घर के अंदर किसी बर्तन में पानी डालें. इसके बाद उसे घर के उत्तर/पूर्व कोने में रखें. घर के उत्तर/पूर्व कोने में रखें. घर के उत्तर/पूर्व कोने में स्वास्तिक के साथ रंगोली, ओम चिन्ह बनाएं. दिवाली पर्व के दिन घर के दक्षिण-पूर्व कोने में मिट्टी के दीये जलाएं. 

Diwali 2022: 3. दिपावली के दिन करें ये वास्तु टिप्स

दीपावली पर्व के दिन मुख्य द्वार पर मिट्टी के दो बड़े दीये जलाए. इसके साथ ही देवी लक्ष्मी, भगवान गणेश, भगवान कुबेर और भगवान इंद्र का प्रतिनिधित्व करते हुए, चार के सेट में दीया रखें. घर के केंद्र में गुलाब की पंखुड़ियों और पानी के साथ तैरती मोमबत्तियां रखें. ऐसा करने से घर में पॉजिटिव वाइब्स आती है. 

Diwali 2022: 4. वास्तु के अनुसार दें ये गिफ्ट

वास्तु शास्त्र के अनुसार दिपावली के पर्व पर क्रिस्टल उपहार के रूप में दें. वहीं प्राचीन वस्तुओं को उपहार के रूप में नहीं देना चाहिए. इसके साथ ही दीपावली पर चमड़े से बनी किसी भी वस्तु को उपहार के रूप में नहीं देना चाहिए. इस पर्व पर पेंटिंग के रूप में उपहार देना शुभ होता है. 

Diwali 2022: दिवाली पूजन की विधि

दिवाली (Diwali 2022) के दिन पूरे मनोयोग से माता लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा करेंगे तो सुख-समृद्धि मिलेगी. दिवाली के दिन घर साफ होना चाहिए. पूजा घर में लक्ष्मी-गणेश की नई मूर्ति लाकर विराजमान करें. इसके लिए रंगोली बनाएं और पूजा स्थल पर एक चौकी रखें. फिर उसपे लाल कपड़ा बिछा दें. अब इसपर माता लक्ष्मी और भगवान गणेश की मूर्ति विराजमान करें. चौकी के पास जल का एक कलश भी रखें. इसके बाद माता लक्ष्मी और भगवान गणेश की मूर्ति को तिलक लगाएं. फिर दीपक जलाएं. इसके बाद जल, अक्षत, मौली, गुड़, फल और हल्दी अर्पित करें. अब माता लक्ष्मी की प्रार्थना करें. ध्यान रहे कि दिवाली पर पूजा परिवार के सभी सदस्यों को मिलकर करनी चाहिए.

Subscribe to our Newsletter

To Recieve More Such Information Add The Email Address ( We Will Not Spam You)

Share this post with your friends

Leave a Reply

Related Posts

shardiya navratri 2024

Durga Asthami 2024:- कब है शारदीय नवरात्रि की दुर्गा अष्टमी, मां भगवती की कृपा पाने के लिए इस दिन जरूर करें ये काम !!

कब है शारदीय नवरात्रि की दुर्गा अष्टमी, मां भगवती की कृपा पाने के लिए इस दिन जरूर करें ये काम !!

Saraswati Avahan 2024

सरस्वती आवाहन 2024:-नवरात्रि में इस विशेष दिन पर किया जाता है सरस्वती माता का पूजन, मिलता है ज्ञान और बुद्धि का आशीर्वाद !!

सरस्वती आवाहन 2024:-नवरात्रि में इस विशेष दिन पर किया जाता है सरस्वती माता का पूजन, मिलता है ज्ञान और बुद्धि का आशीर्वाद !!

sarva pitru amavasya 2024

Sarva Pitru Amavasya 2024:- क्या है सर्व पितृ अमावस्या?क्या है शुभ मुहूर्त और तिथि,महत्व,क्यो श्राद्ध करना जरूरी है जाने सारी जानकारी!

Sarva Pitru Amavasya 2024:- क्या है सर्व पितृ अमावस्या?क्या है शुभ मुहूर्त और तिथि,महत्व,क्यो श्राद्ध करना जरूरी है जाने सारी जानकारी!